india job post

Corriander Farming: बारिश के बाद इस फसल की कीमत में आता है उछाल, कम समय में कमाएं अधिक मुनाफा

Corriander Farming: धनिया की फसल के लिए जल निकास के लिए बढ़िया दोमट भूमि सबसे अधिक उपयुक्त होती है. अच्छे जल निकास और उर्वरा शक्ति वाली दोमट और मटियार दोमट भूमि भी इसकी खेती के लिए बहुत बढ़िया होती है. बता दें कि इसकी खेती के लिए मिट्टी का पीएच मान 6.5 से 7.5 का होना चाहिए.
 | 
धनिया

Corriander Farming: देश में मसाले की खेती बड़े स्तर पर होती है. इन फसलों से किसान कम वक्त में अच्छा मुनाफा कमाया जा सकता है. धनिया भी कुछ इसी तरह की फसल है. औषधीय गुणों के कारण से धनिया के पत्ते और बीजों की बाजार में काफी मांग होती है. 

कृषि विशेषज्ञ दयाशंकर श्रीवास्तव के मुताबिक, बारिश के मौसम में धनिया की फसल लगाना किसानों के लिए बहुत फायदेमंद साबित हो सकती है. वह कहते हैं बरसात के दौरान इसकी कीमतें अचानक से रफ्तार पकड़ती है. ऐसे में मात्र दो से तीन महीने में मुनाफा देने वाली इस फसल की खेती कर किसान बढ़िया मुनाफा कमाया जा सकता है.

इस मिट्टी पर करें धनिया की खेती

धनिया की सिंचित फसल के लिए अच्छा जल निकास वाली अच्छी दोमट भूमि सबसे बहुत उपयुक्त होती है और अच्छे जल निकास और उर्वरा शक्ति वाली दोमट या मटियार दोमट भूमि भी इसकी खेती के लिए काफी जबरदस्त होती है. बता दें कि इसकी खेती के लिए मिट्टी का पीएच मान 6.5 से 7.5 तक होना चाहिए.

किस तरह करें बुवाई

धनिया की बुवाई करने से पहले इसके बीज को  हल्का रगड़कर बीजो को दो भागो में तोड़ लिया जाता है. फिर इसका छिड़काव खेतों में किया जाए. इसकी बुवाई पंक्तियों में करना काफी लाभदायक होता है. इसकी फसल को पहली सिंचाई बुवाई के 30-35 दिनों बाद करनी होती है. दूसरी सिंचाई 50-60 दिन बाद, तीसरी सिंचाई 70-80 दिन बाद और चौथी सिंचाई 90-100 दिन बाद करनी होती है. हल्की जमीन  में पांचवी सिंचाई 105-110 दिन बाद करना लाभदायक होता है.

कब करें कमाई

अगर धनिया की हरी पत्तियों को बाजार में बेचा जाए तो 45-60 दिनों में इसकी कटाई कर बढ़िया मुनाफा कमाया जा सकता हैं. वहीं, धनिया के बीज को हासिल करना चाहते तो इसके दाने को कठोर और पत्तियों के पीले होने तक का इंतजार किया जा सकता है.

कमा सकते हैं जबरदस्त मुनाफा

भारत में बनने वाली हर सब्जी में धनिया की जरूरत होती है. इसे सूखा और हरी दोनों अवस्था में प्रयोग किया जाता है. कभी-कभी तो धनिया के बीज का भाव प्रति क्विंटल भाव 10 हजार रुपये तक चला जाता है. वहीं पत्तियां की भी कीमत बाजार में 300 रुपये प्रति किलो तक पहुँचती है. 

Also Read: मंडी भाव 5 अगस्त 2022: सरसों, गेहूं, नरमा, ग्वार, मुंग समेत सभी फसलों का भाव