india job post

मानसून के प्रभाव से देश में धान, दलहन और तिलहन का रकबा घटा, वहीं कपास व गन्ने में बढ़ोतरी दर्ज

 | 
agriculture, kharif paddy, Oilseeds, Pulses farming"

देश में इन दिनों खरीफ सीजन जारी है। जिसके तहत मुख्य खरीफ फसल धान की रोपाई के साथ अन्य दलहन व तिलहन फसलों की बुवाई लगभग पूरी हो चुकी है। लेकिन मानसून बारिश की बेरुखी के कारण धान की बुवाई का रकबा घटने और उत्पादन में कमी की खबर चारों ओर जारी है। लेकिन मानसून की इस बेरुखी का असर बाकी की खरीफ फसलों पर भी बुरा पड़ा है। नतीजतन इस वजह से धान के साथ ही दलहन और तिलहन फसलों के रकबे में गिरावट दर्ज की गई है. वहीं कपास और गन्ने की खेती का दायरा इस बार कुछ बढ़ा है. यह सारा अनुमान बैंक ऑफ बड़ाैदा ने अपनी एक रिपोर्ट में लगाया है.

दलहन 4.4 % तो तिलहन के रकबे में 2.9 % तक गिरावट दर्ज 

देश की समाचार एजेंसी आईएनएस की एक रिपोर्ट के मुताबिक बैंक ऑफ बड़ोदा ने अपनी जारी अनुमान रिपोर्ट में कहा है कि देश के पिछले साल के मुकाबले खरीफ फसलों की बुवाई के रकबे में कमी दर्ज हुई है. इस रिपोर्ट में कहा गया है कि गंगा नदी क्षेत्र के कुछ हिस्सों में कम बारिश ने चावल और दालों के रकबे को प्रभावित भी किया है. नतीजतन बुवाई गतिविधि में गिरावट भी इस साल आई है. जिसके तहत चावल और दालों के बुवाई क्षेत्र में क्रमशः 5.6 % और 4.4 % की गिरावट आई है. इसी तरह तिलहन के रकबे में 2.9% की गिरावट दर्ज हुई है. वहीं इस रिपोर्ट में आगे कहा गया है दक्षिण-पश्चिम मानसून की वापसी से पहले विस्तारित मौसमी बारिश की संभावना के पूर्वानुमान को देखते हुए आगे की निगरानी की जरूरत है.

देश में अरहर की खेती का रकबा सबसे ज्यादा गिरा

बैंक ऑफ बड़ौंदा ने अपनी इस रिपोर्ट में दलहनी फसलों के रकबे में 4.4 % की गिरावट होने का अनुमान भी जारी किया है. जिसमें से देश की दलहनी फसलों में सबसे अधिक गिरावट अरहर के रकबे में दर्ज की गई है. रिपोर्ट के अनुसार इस खरीफ सीजन में अरहर के रकबे में बीते वर्ष की तुलना में 2.7 % की गिरावट दर्ज की गई है. इसी तरह उड़द के रकबे में 1.6 % और मूंग के रकबे में 1.4 % की गिरावट दर्ज की गई है.

कपास के रकबे में 6.8 % फीसदी की बढ़ोतरी

बैंक ऑफ बड़ौंदा ने अपनी रिपोर्ट में अपनी रिपोर्ट में जहां दलहन और तिलहन फसलों के रकबे में बढ़ोतरी का अनुमान भी जारी किया है तो वहीं दूसरी तरफ कपास और गन्ने के रकबे में बढ़ोतरी का अनुमान भी लगाया है. रिपोर्ट में कहा गया है कि इस खरीफ सीजन कपास के रकबे में 6.8 % और गन्ने के रकबे में 1.7 % की बढ़ोतरी भी दर्ज की गई है. और यह बढ़ोतरी पिछले साल की तुलना पर आधारित है.

रोजाना मंडी भाव के लिए यहां टच कर व्हाट्सप्प ग्रुप से जुड़े

ये भी पढ़े:खुशखबरी: राजस्थान सरकार का बड़ा फैसला जरूरतमंदों के लिए शुरू हुई ये नई योजना, शहरों में मिलेगी रोजगार की गारंटी

ये भी पढ़े:खुशखबरी! दाल-चावल और सरसों का तेल समेत सभी राशन के दाम टूटे , भाव जानकर हो जाएंगे खुश

ये भी पढ़े:Weather Update: आज मध्य प्रदेश,सहित इन राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट, राजधानी दिल्ली में भी करवट बदलेगा मौसम

ये भी पढ़े:खुशखबरी: पीएम किसान की 12वीं किस्त से पहले किसानों मिलेगा एक और मोटा फायदा, फटाफट करें ये काम