india job post

खुशखबरी! किसानों को नहीं आएगी यूरीया की कमी, इस राज्य में ऐसे उर्वरक की पहुँच करेगी सरकार

 | 
खुशखबरी! किसानों को नहीं आएगी यूरीया की कमी, इस राज्य में ऐसे उर्वरक की पहुँच करेगी सरकार 

Indiajobpost, मध्य प्रदेश: देश में किसान खरीफ सीजन की फसलों का प्रबंधन कर रहे है। और जल्द ही रबी की फसलों की बुवाई भी शुरू हो जाएगी। तो किसानों को रासायनिक उवर्रकों की किल्लत ना हो। इसके लिए केंद्र व राज्य सरकारें हर संभव प्रयास कर रही है। इसी कड़ी में अब मध्य प्रदेश सरकार ने राज्य में प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों (पैक्स) से के सभी किसानों को रासायनिक उवर्रकों की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के निर्देश सहकारिता विभाग ने जारी किए हैं। यह फैसला राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह द्वारा कृषकों को उवर्रकों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के हाल ही में दिए ऐलान के बाद सहकारिता विभाग ने लिया है। मध्य प्रदेश के सहकारिता मंत्री डॉ. अरविन्द सिंह भदौरिया ने विभागीय अधिकारियों को तुरंत कार्यवाही करने के लिए भी कहा था। इसी संदर्भ में भोपाल में राज्य के जल संसाधन मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट एवं संस्कृति मंत्री सुश्री उषा ठाकुर ने किसानों की समस्याओं के संबंध में सहकारिता मंत्री श्री अरविंद भदौरया और राज्य कृषि मंत्री श्री कमल पटेल से मुलाकात की थी।

मध्य प्रदेश के सहकारिता मंत्री डॉ. भदौरिया ने बताया कि प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों (पैक्स)  के पहले के बकाया कर्ज को अदा नहीं करने से कृषक कर्जदार हो गये। किसानों ने पिछली कांग्रेस सरकार के कर्ज माफी के वादे की उम्मीद में कर्ज अदा नहीं किए और कांग्रेस सरकार ने इनका कर्ज माफ नहीं किया जिससे यह किसान कर्जदार हो गये। प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों (पैक्स) ऋणी किसानों को पैक्स से कर्ज और खाद-बीज मिलने की पात्रता भी नहीं रही। इसके साथ ही पैक्स को नगद में खाद-बीज विक्रय पर रोक लगा दी है।किसानों को पैक्स से खाद-बीज प्राप्त करने के लिये पैक्स का सदस्य होना भी आवश्यक है। किसानों के हित में निर्णय लेते हए पैक्स संस्थाओं द्वारा नगद में उर्वरक एवं बीज विक्रय करने का निर्णय लिया गया है। इससे कालातीत ऋणी कृषक और जो पैक्स के सदस्य नहीं हैं, वे कृषक भी पैक्स से उर्वरक खाद खरीद सकेंगे।

सहकारिता मंत्री ने आगे कहा कि उर्वरक का भण्डारण करने में आर्थिक रूप से कमजोर पैक्स को क्रेडिट पर 25 टन उर्वरक देने के निर्देश भी विपणन संघ को दिये गये हैं, जिससे कि आर्थिक रूप से कमजोर पैक्स कृषकों को उर्वरक देने में सक्षम भी हो सकें। ऐसी प्रत्येक पैक्स को विपणन संघ द्वारा क्रेडिट पर 25 टन तक उर्वरक दिया जायेगा। यह पैक्स 25 टन उर्वरक के विक्रय से प्राप्त राशि से पुन: उर्वरक का क्रय करेंगी और किसानों को निर्बाध रूप से उर्वरक उपलब्ध कराना भी सुनिश्चित करेगी।

रोजाना मंडी भाव के लिए यहां टच कर व्हाट्सप्प ग्रुप से जुड़े

Also Read:कपास के किसानों में खुशी की लहर, MSP से करीब दुगुना मिल रहा सफ़ेद सोने का भाव

Also Read:सोयाबीन की नई फसल से पहले किसानों को भारी नुकसान, इतने रुपए टूटा भाव