india job post

खुशखबरी किसानों के खातों में बस इतने दिन बाद आएगी अगली किस्त, जानें पीएम-किसान योजना का ताजा अपडेट

 | 
PM Kisan Samman Nidhi, e-KYC, kisan nidhi, PM Kisan, PM Kisan 12th Instalment, farmer, schemes for farmers, latest news, trending news, dna business hindi news, PM Kisan 12th Instalment, PM Kisan Samman Nidhi, PM Kisan Yojana, pm kisan installment, PM Kisan ekyc"

पीएम देश में किसानों के लिए केंद्र सरकार की योजना पीएम किसान सम्मान निधि (PM Kisan Samman Nidhi) की 12वीं किस्त का इंतजार जल्द ही खत्म होने वाला है. क्योंकि अगस्त से नवंबर के बीच क‍िसानों के खाते (PM Kisan 12th Instalment) में इस किस्त के 2 हजार रुपये ट्रांसफर हो जाएंगे. हालांकि जिन्होंने ई-केवाईसी (e-KYC) नहीं करवाया है उन्हें थोड़ी समस्या हो सकती है. 31 अगस्त तक ई-केवाईसी की डेडलाइन थी जो कि अब खत्म निकल गई है. 

इसी माह 5 स‍ितंबर तक आ सकते हैं किसानों के खातों में पैसे!

केंद्र सरकार में प्रमुख सच‍िव डॉ. अरुण कुमार मेहता (Dr Arun Kumar Mehta) ने पीएम क‍िसान योजना पर जानकारी दी है. उन्होंने बताया क‍ि जिनके पं किसान योजना के खाते आधार से जुड़े हुए हैं सिर्फ उन्हीं के खाते में ही 12वीं क‍िस्‍त को ट्रांसफर भी क‍िया जाएगा. इस दौरान उन्‍होंने यह भी बताया क‍ि 5 स‍ितंबर तक सभी क‍िसानों के खाते में पीएम किसान सम्मान निधि से जुड़ी रकम ट्रांसफर होने की उम्‍मीद भी है. आपको बता दें कि सरकार का इस वक्त अपात्र लाभार्थ‍ियों को म‍िलने वाला लाभ बंद करने और पैसे की र‍िकवरी करने पर भी फोकस कर रही है.

किसानों को कितना सालाना कितना मिलता है?

केंद्र सरकार ने इस योजना कि शुरुआत किसानों की आर्थिक स्थिति को मजबूत करने के लिए भी की थी. इसके तहत सरकार पात्र क‍िसानों को सालाना 6 हजार रुपये तक भी देती है. हालांकि यह रुपये 2-2 हजार की तीन क‍िस्‍तों में भी म‍िलते हैं. बहरहाल इस योजना का लाभ उठाने के लिए ई-केवाईसी करवाना बेहद ही जरूरी है. अगर किसी ने ई-केवाईसी नहीं करवाया है तो उसे क‍िस्‍त भी नहीं दी जाएगी.

लाभार्थियों की संख्या में कमी भी 

बता दें कि जब से सरकार ने ई-केवाईसी (e-kyc) को जरूरी किया है।  तब से इसके लाभार्थियों की संख्या में कमी भी आने लगी है. अगस्त 2021 से लेकर नवंबर 2021 के बीच 11.19 करोड़ किसानों को 9 वीं किस्त भी मिली थी. इसके बाद द‍िसंबर 2021 से मार्च 2022 के बीच 11.15 करोड़ किसानों को 10वीं किस्त भी मिली थी. वहीं 11 वीं किस्त में लाभार्थियों की संख्या घटकर 10.92 करोड़ तक रह गई.