india job post

Haryana Weather: 10 सितंबर तक हरियाणा में फिर से सक्रिय होंगी मानसूनी हवाएं, प्रदेश के इन जिलों में बारिश का अलर्ट

 | 
weather

हरियाणा प्रदेश में पिछले कुछ दिनों से गर्मी और उमस दोनों में ही तेजी दर्ज हो रही है। इसके कारण आम लोगों को काफी तरह की दिक्कतों का सामना भी करना पड़ रहा है। दिन में बादल आते है मगर बरसात नहीं होती जिससे कि लोगों को कुछ राहत मिले। मगर अब राज्य के मौसम विज्ञानियों की मानें तो हरियाणा में जल्द ही बरसात हो सकती है। मौसम विभाग का अनुमान है कि कुछ जिलों में बूंदाबांदी के आसार हैं। क्योंकि मानसूनी हवाएं एक बार फिर से सक्रिय हो रही हैं।

राज्य के चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के कृषि मौसम विज्ञान विभाग के अध्यक्ष डा. मदन खिचड़ ने मीडिया से मौसम पूर्वानुमान में बताया कि मानसून टर्फ की अक्षय रेखा अब भी सामान्य स्तिथि से उत्तर पश्चिमी छोर हिमालय की तलहटियों की तरफ होने से हरियाणा राज्य में वर्षा की गतिविधियों में 9 सितम्बर तक कमी बने रहने की संभावना नजर आ रही है। राज्य में मौसम 9 सितम्बर तक आमतौर पर परिवर्तनशील व बीच-बीच में आंशिक बादलवाई व हवाएं चलने की संभावना भी है ।

मगर इस मौसमी परिवर्तन के दौरान बंगाल की तरफ से नमी वाली हवाओं व तापमान में बढ़ोतरी के प्रभाव से कुछ एक स्थानों पर छिटपुट बूंदाबांदी होने की संभावना भी है। वहीं 10 सितम्बर से मानसूनी हवाएं एक बार फिर से सक्रिय होने की संभावना को देखते हुए 10 सितम्बर देर रात्रि से  राज्य में बरसात का दौर शुरू होने की संभावना भी बन रही है।  

राज्य में बादलवाई से मौसम रहा सामान्य

आज दिनभर प्रदेश में कई जिलों में बादल तो छाए रहे मगर बरसात नहीं हुई। मगर तपिश से कुछ राहत जरूर मिली है । मगर आने वाले दिनाें में मानसूनी हवाएं एक बार फिर से सक्रिय हो सकती है। जिससे बरसात या छुटपुट बरसात की संभावना भी बनी हुई है। दिन के समय सामान्य से एक डिग्री सेल्सियस बढ़कर 37.1 डिग्री सेल्सियस व रात का तापमान 26.3 डिग्री सेल्सियस तक तापमान दर्ज किया गया।

रोजाना मंडी भाव के लिए यहां टच कर व्हाट्सप्प ग्रुप से जुड़े

ये भी पढ़े: Punjab Weather Update: पंजाब में मानसून का दूसरा दौर शुरू, आगामी 3 दिन तक इन जिलों में बारिश के आसार

ये भी पढ़े: PM Fasal Bima Yojana: क्यों यूपी के किसान बना रहे है फसल बीमा योजना से दूरी? यह है मुख्य वजह

ये भी पढ़े: Dal Market in Indore: इंदौर मंडी में दाल चावल और अन्य फसलों के ताजा भाव

ये भी पढ़े: PM kisan: क्या होता है Rft Signe और FTO? पीएम किसान के लाभार्थियों के लिए क्यों है जरूरी?

ये भी पढ़े: Identify chemicals in vegetables:सब्जी में केमिकल लगा है या नहीं, इस तरह करें पहचान

ये भी पढ़े: Black Guava Farming: इस राज्य के किसान ने उगाया काला अमरूद, जानिए क्या है इसमे खास