india job post

Makhana Development Scheme: इस फसल की खेती पर मिलेगा 75% तक अनुदान, जानिए कहां करें आवेदन

अगर आप भी खेती से मोटा मुनाफा कमाना चाहते हैं और सरकारी मदद चाहते हैं, तो आपके लिए मखाने की खेती बढ़िया विकल्प हो सकता है.
 | 
मखाना की खेती

मखाना अपने जबरदस्त स्वाद के लिए मशहूर है. जानकारी अनुसार बता दे कि विश्व भर में सबसे ज्यादा मखाने की खेती भारत में होती है और वहीं भारत में इसकी खेती बिहार में सबसे ज्यादा की जाती है.

मखाना दिखने में जितना खूबसूरत होता है उतना ही खाने में स्वाद होता है. यह पौष्टिकता से भरपूर भी होता है. इस फल का प्रयोग कई तरह की चीजों को बनाने में होता है. लेकिन क्या आपको पता हैं कि मखाना की खेती करने से किसानों को दुगुना फायदा मिलता है और साथ ही इस खेती को बढ़ावा देने के लिए बिहार सरकार मखाने पर अनुदान उपलब्ध करवाती है.

इस योजना के अंतर्गत मिल रही सब्सिडी 

बिहार सरकार प्रदेश के किसानों की आय में बढ़ाने और खेती के लिए किसानों को जागरूक करने के लिए सरकार मखाने की खेती पर 75 प्रतिशत तक अनुदान की सुविधा दे रही है. किसान भाइयों को यह अनुदान मखाना विकास योजना (Makhana Development Scheme) के अंतर्गत दिया जा रहा है. जानकारी अनुसार बता दें कि इस योजना को बिहार सरकार के कृषि विभाग उद्यान निदेशालय द्वारा शुरू किया गया है. ताकि प्रदेश में मखाने का उत्पादन बढ़ा सके और किसानों की आर्थिक मदद मिल सके.

मखाने के इन दो बीजों को अधिक प्राथमिकता 

सरकार की इस योजना में मखाने के दो उन्नत किस्में को बढ़ावा दे रही है. जो कई प्रकार से है. सबौर मखाना 1 और स्वर्ण वैदेही प्रभेद बीज होता है.

कृषि विभाग के द्वारा मिली जानकारी के अनुसार, इन दोनों किस्म के बीजों से किसान अपने मखाने के उत्पादन को बढ़ावा दे सकता है. जहां सामान्य बीजों से प्रति हेक्टेयर 16 क्विंटल तक मखाने का उत्पादन लिया जा सकता हैं और वहीं इन किस्म के बीज से किसानों को प्रति हेक्टेयर 28 क्विंटल मखाने का उत्पादन ले सकते हैं.

75% तक मिलेगी सब्सिडी 

बिहार सरकार की योजना के मुताबिक किसानों को अब मखाने की खेती में को परेशानी ना आए. दरअसल मखाने की खेती में कुल लागत करीब 97 हजार प्रति हेक्टेयर तक आ जाती है, जोकि एक आम किसान के लिए सबसे बड़ी समस्या है. लेकिन किसान अब मखाना विकास योजना के अंतर्गत मखाने की खेती के लिए 75 प्रतिशत तक अनुदान ले सकते है. जिसमें उन्हें लगभग 72,750 रुपये प्रति हेक्टेयर मिलेंगे.

यहां करें योजना में आवेदन 

अगर आप भी मखाने की खेती करके लाभ लेना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको 5 सितंबर 2022 से मखाना विकास योजना के लिए आवेदन करना होगा. ध्यान रहे कि यह आवेदन प्रक्रिया 20 सितंबर 2022 तक जारी रहने वाला है. योजना में आवेदन करने के लिए आपको बिहार उद्यान विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना पड़ेगा. जहां से आप आसानी से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं.

ये भी पढ़े:Hariyana Weather Update: अब गर्मी और उमस से राहत के आसार, मौसम विभाग ने बताया इन जिलों में होगी बारिश

 ये भी पढ़े: Egyptian Clover: सर्दियों में दुधारू पशुओं के लिए फायदेमंद होता है यह चारा, इतने दिन में हो जाता है तैयार