india job post

इन राज्यों में जारी रहने वाला है मॉनसून का कहर, आने वाले 5 दिन हो भारी बरसात, मौसम विभाग की चेतावनी

 | 
IMD Rainfall Alert, Weather Today, Weather Update, Weather Forecast, Mausam, Barish, Rainfall 5 days in these states, Mausam News, IMD Rainfall News, Weather Forecast Update, Weather Update Today, Delhi Rains, Odisha Rains, Monsoon 2022, मौसम, बारिश, वेदर अपडेट, पांच दिनों तक होगी बारिश

नई दिल्ली: इस बार मानसुनी बरसात ने देश के हिस्सों में भारी तबाही मचाई है। कई राज्यों में नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। और अब मौसम विभाग के अनुसार दूसरे चरण की बारिश भी कई राज्यों में कोहराम मचा सकती है। भारतीय मौसम विभाग ने अब आगामी 5 दिनों में देश के कई राज्यों में भारी बारिश की संभावना जताई है। और ये लगभग पूर्वी हिस्से के अरुणाचल प्रदेश, असम, नगालैंड, मणिपुर राज्य शामिल हैं.    

भारतीय मौसम विभाग(IMD)आईएमडी ने ट्वीट करते हुए बताया कि, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा, अरुणाचल प्रदेश,असम और मेघालय राज्यों में आगामी 5 दिनों में अलग-अलग हिस्सों में भारी व माध्यम बारिश की संभावना है। इसके साथ कई जगह वज्रपात की संभावना भी मौसम विभाग द्वारा जताई गई है।    

वहीं 31 अगस्त से 3 सितंबर के दौरान बिहार राज्य में और अगले 5 दिनों के दौरान उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम में गरज के साथ हल्की बारिश होने की संभावना भी है. जबकि 31 अगस्त को तेलंगाना के अलग-अलग हिस्सों में भारी बारिश और गरज के साथ वज्रपात का अलर्ट जारी किया है. तटीय और उत्तरी कर्नाटक के अंदरूनी इलाकों में आज से 2 सितंबर, लक्षद्वीप में 1 और 2 सितंबर को और तमिलनाडु, दक्षिण कर्नाटक और केरल में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है.

कर्नाटक राज्य में मंगलवार से स्कूल-कॉलेज बंद

उधर लगातार हो रही बारिश और इसकी चेतावनी को देखते हुए कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में स्कूलों और कॉलेजों को मंगलवार को बंद भी कर दिया गया. लगभग सड़कों पर जलभराव होने के चलते शहर के लोगों को परेशानियों का सामना भी करना पड़ रहा है. बेंगलुरु शहर के डीसी श्रीनिवास ने समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत के दौरान बताया, “भारी बारिश के कारण बेंगलुरु के कई इलाकों में जलभराव हो गया और सोमवार को अंधड़ से कई पेड़ उखड़ गए. तो अब भारी बारिश के कारण मंगलवार को बेंगलुरु के स्कूलों और कॉलेजों में छुट्टी भी घोषित कर दी गई है.”

आपको बता दें कि बीते कुछ दिनों में हुई भारी बारिश से मध्य और उत्तर भारत के कई इलाकों में भारी नुकसान भी हुआ है. खासकर महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और गुजरात में हुई अधिक वर्षा से भीषण बाढ़ आई, जिसमें जान-माल की हानि भी हुई.और किसानों की फसलें भी जलस्तर के कारण जलमगन हो गई है।  

 

Also Read: कोटा मंडी भाव 31 अगस्त 2022: सोयाबीन में तेजी, सरसों भाव में गिरावट का दौर जारी

Also Read: Animal Grass feed: किसान पशुओं को खिलाए यह 3 प्रकार की घास, बढ़ जाएगा दूध उत्पादन

Also Read: मंडी भाव 31 अगस्त 2022: धान 1509 और नरमा में तेजी, सरसों, गेहूं, के साथ-साथ कई फसलों का बोली भाव

Also Read: जलभराव की फोटो किसान खुद करें पोर्टल पर अपलोड, मिल जाएगा मुआवजा

Also Read: Subsidy: धान उत्पादक किसानों को ऐसे मिलेंगे प्रति एकड़ 1 हजार रुपये, जानें आवेदन सहित सारी जानकारी