india job post

गन्ना किसानों की बल्ले बल्ले! नया भाव निर्धारित करेगी इस राज्य की सरकार

 | 
sugarcane price, sugarcane price in haryana, highest sugarcane price in india, Haryana government, ethanol plant, new variety of sugarcane, latest agriculture news, गन्ना मूल्य, हरियाणा में गन्ने की कीमत, भारत में सबसे अधिक गन्ना मूल्य, हरियाणा सरकार, इथेनॉल प्लांट, गन्ने की नई किस्म, नवीनतम कृषि समाचार

देश की सरकार किसानों की समस्याओं को देखते हुए कई तरह के कदम उठा रही है। देश के राज्य हरियाणा में आयोजित मंत्री गन्ना नियंत्रण बोर्ड की बैठक के उपरांत प्रदेश के कृषि मंत्री जेपी दलाल ने कहा कि शुगर मिलों में लगाए जाने वाले इथेनॉल प्लांट के निर्माण कार्यो में अब तेजी लाई जाए, ताकि किसानों को अधिक लाभ भी मिल सके.इसके साथ उन्होंने प्रदेश के किसानों से कहा कि किसान गन्ने की नई किस्म 15023 की ज्यादा से ज्यादा पैदावार करें. सरकार द्वारा निर्धारित इस किस्म पर सब्सिडी भी उपलब्ध करवाई जाएगी। और उन्होंने जल्दी ही गन्ने का नया भाव तय करने के संकेत दिए और कृषि मंत्री गन्ना नियंत्रण बोर्ड की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे. बैठक में सहकारिता मंत्री डॉ. बनवारी लाल और कृषि विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव सुमिता मिश्रा सहित कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे.

कृषि मंत्री ने बताया कि शाहबाद शुगर मिल में 60 किलो लीटर प्रति दिन (केएलपीडी) क्षमता का इथेनॉल प्लांट स्थापित भी किया जा चुका है. पानीपत शुगर मिल में भी 90 केएलपीडी क्षमता का प्लांट शीघ्र ही लगाया जाएगा. इसके अतिरिक्त रोहतक, करनाल, सोनीपत, जीन्द, कैथल, महम, गोहाना व पलवल शुगर मिलों में इथेनॉल प्लांट लगाने के प्रस्ताव सरकार तैयार कर लिए गए हैं.

फिलहाल कितना है गन्ने का भाव

कृषि मंत्री ने कहा कि देश में किसानों को सबसे अधिक गन्ने का भाव देने वाला राज्य हरियाणा है. किसानों की भलाई को ध्यान में रखते हुए शीघ्र ही गन्ने के नए भाव भी तय किए जाएंगे. हरियाणा में फिलहाल गन्ने का भाव 362 रुपये प्रति क्विंटल तक है. किसानों के गन्ने की बकाया राशि का शत प्रतिशत भुगतान भी सरकार द्वारा कर दिया गया है. केवल एक शुगर मिल का शेष है, उस शुगर मिल के किसानों की बकाया राशि का भुगतान भी जल्द ही करने के निर्देश भी सरकार द्वारा दिए गए हैं.

राज्य में गन्ने की नई किस्म की बुवाई करें किसान

दलाल ने आगे कहा कि किसानों के लिए गन्ने की नई किस्म 15023 भी तैयार की गई है. और इस किस्म को केन्द्र सरकार ने भी स्वीकृति प्रदान कर दी है. हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय हिसार को भी जल्द ही इस किस्म के सत्यापन करने के निर्देश भी दिए गए हैं. इस किस्म का ज्यादा से ज्यादा बीज तैयार किया जाए ताकि किसान इसका ज्यादा उत्पादन कर ज्यादा फायदा उठा सकें. इस किस्म को बढ़ावा देने के लिए हरियाणा सरकार किसानों को वित्तीय सहायता भी प्रदान करेगी. पिछले वर्ष इस नई किस्म की बिजाई करने वाले किसानों को भी सत्यापन करके वित्तीय सहायता भी सरकार द्वारा प्रदान की जाएगी.

पहले शुरू होगा पेराई सत्र

कृषि मंत्री ने कहा कि सहकारी शुगर मिलों एवं प्राईवेट शुगर मिलों के उत्पादन में जो अंतर आ रहा है, इसे दूर करने के लिए एक कमेटी का गठन भी किया गया है. यह कमेटी जल्द ही रिपोर्ट तैयार कर सरकार को सौंप देगी. इसके लिए व्यक्तिगत स्तर पर शुगर मिलों की जवाबदेही भी तय की जाएगी. इस साल शुगर मिलों का पिराई सत्र पिछले सत्र से पहले ही शुरू कर दिया जाएगा ताकि किसान आगामी फसल की बिजाई में आसानी से कर सकें.

राज्य में गन्ना प्रजनन संस्थान को दी जाएगी जमीन

इस बैठक में गन्ने की नई किस्मों को तैयार करने के लिए गन्ना प्रजनन संस्थान करनाल को 50 एकड़ भूमि देने के लिए भूमि का चयन करने के भी निर्देश भी दिए ताकि प्रदेश के किसानों को नई नई किस्मों के बीज भी आसानी से उपलब्ध करवाए जा सकें. इसके अलावा पुरानी गुड़-खांडसारी ईकाईयों के लाईसेंस नवीनीकरण करने और नई ईकाईयों को लाईसेंस जारी करने का निर्णय भी लिया गया. पिछले साल 168 गुड़ तथा 2 खांडसारी ईकाईयों को राज्य सरकार द्वारा लाईसेंस भी जारी किए गए थे.

Also Read: End of Monsoon: मानसून के जाने से पहले ये राज्य हो जाएं सतर्क! आने वाले 2 दिन तक भारी बारिश का अलर्ट जारी

Also Read: सावधान! इन राज्यों में आने वाली है आफत भरी बारिश, मौसम विभाग का अलर्ट जारी

Also Read:Sheep Farming: किसानों को अब मिलेगा मोटा मुनाफा, कम लागत पर शुरू करें भेड़ पालन

Also Read:IMD Rainfall Alert: राजस्थान के इन हिस्सों में बढ़ेंगी मुश्किलें, आने वाले 48 घंटे तक भारी बारिश का अलर्ट जारी