india job post

Export: इस मामले में भारत को हुआ भारी नुकसान, व्यापार घाटा में हुई इतनी बढ़ोतरी

 | 
India Export Data, India Export down, trade deficit, india export, india trade deficit, india trade deficit widens, India Trade deficit in August, India export decline in August, India export decline, India Wheat Export Ban, भारत का व्यापार घाटा बढ़ा, भारत का व्यापार घाटा कितना है, भारत के निर्यात में गिरावट

देश के वाणिज्य मंत्रालय ने अगस्त माह के निर्यात आँकड़े जारी कर दिए और देश के निर्यात में अगस्त के महीने में गिरावट दर्ज की गई है। मंत्रालय द्वारा जारी इन आंकड़ों के मुताबिक अगस्त के महीने में एक्सपोर्ट 1.15 %घटकर 33 अरब डॉलर तक हो गया है. साथ ही व्यापार घाटा दोगुने से भी ज्यादा बढ़कर 28.68 अरब डॉलर तक हो गया है। वही वाणिज्य सचिव बीवी आर सुब्रह्मण्यम ने कहा कि चालू वित्त वर्ष के दौरान देश का कुल निर्यात लगभग 450 अरब डॉलर के पार जाने की उम्मीद भी मंत्रालय को है.

बीते साल कितना था घाटा?

एक साल पहले अगस्त 2021 के दौरान देश का व्यापार घाटा 11.71 अरब डॉलर तक रहा था. इस वित्त वर्ष के अगस्त महीने में ही घाटे में बढ़ोतरी दर्ज की गई है. अप्रैल-अगस्त 2022-23 के दौरान निर्यात 17.12 % की बढ़ोतरी के साथ 192.59 बिलियन अमेरिकी डॉलर तक हो गया. वहीं, चालू वित्त वर्ष की पांच महीने की अवधि के दौरान आयात 45.64 % बढ़कर 317.81 अरब अमेरिकी डॉलर तक हो गया.

अब चालू वित्त वर्ष में अप्रैल-अगस्त की अवधि में देश का व्यापार घाटा बढ़कर 125.22 अरब डॉलर तक हो गया. ये आंकड़ा पिछले साल की समान अवधि में 53.78 अरब डॉलर तक रहा था. अगस्त के महीने में देश के तेल के आयात के आंकड़े में बड़ा इजाफा हुआ है. अगस्त में तेल आयात 86.44 % बढ़कर 17.6 अरब डॉलर तक हो गया. हालांकि, सोने के आयात में गिरावट भी दर्ज की गई है. आंकड़ों के मुताबिक, ये अगस्त के महीने में 47.54 % घटकर 3.51 अरब डॉलर तक रहा.

वाणिज्य सचिव बीवी आर सुब्रह्मण्यम ने मीडिया से बातचीत में बताया कि प्रोडक्ट के निर्यात में हम इस फाइनेंसियल वर्ष में 450 अरब डॉलर का आंकड़ा भी पार कर लेंगे. हालांकि मेरा आंतरिक लक्ष्य 470 अरब डॉलर तक का है. वहीं सेवा निर्यात 300 अरब डॉलर पर आराम पहुंच जाएगा. उन्होंने कहा कि इस तरह जारी वित्त वर्ष में देश का कुल निर्यात 750 अरब डॉलर तक रहेगा. वहीं, पिछले वित्त वर्ष में यह 676 अरब डॉलर तक रहा था.

देश में क्यों कम हुआ निर्यात?

अगस्त के महीने में निर्यात के आंकड़े में आई इस गिरावट की वजह बताते हुए सुब्रह्मण्यम ने बताया - 'महंगाई पर काबू पाने और देश में कुछ प्रोडक्ट्स की उपलब्धता को सुनिश्चित करने के लिए हमने गेहूं, आयरन जैसे कुछ उत्पादों के निर्यात पर प्रतिबंध भी लगाया है. साथ ही कुछ प्रोडक्ट्स पर निर्यात शुल्क को भी लगाया गया है. इस वजह से अगस्त के महीने में निर्यात के आंकड़े में गिरावट दर्ज की गई है.' उन्होंने बताया कि नई विदेश व्यापार नीति 30 सितंबर को देश में जारी की जाएगी'.

रोजाना मंडी भाव के लिए यहां टच कर व्हाट्सप्प ग्रुप से जुड़े

ये भी पढ़े: Egyptian Clover: सर्दियों में दुधारू पशुओं के लिए फायदेमंद होता है यह चारा, इतने दिन में हो जाता है तैयार

ये भी पढ़े: Potato Crop Weed Management: आलू की खेती के शुरुआती दिनों में इस तरह करें खरपतवार प्रबंध

ये भी पढ़े: धान में बौनेपन की बीमारी से भारी नुकसान, कई जिलों में किसानों को 50 करोड़ से ज्यादा का नुकसान

ये भी पढ़े: खुशखबरी: किसानों को फ्री में मिलेगा चने और सरसों का बीज, गेहूं पर भी 90 % की छूट देगी राज्य सरकार