india job post

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना: सरकार की इस स्कीम से 7.5 लाख किसानों को बिजली बिल्कुल फ्री

 | 
Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana, Electricity bill, farmers scheme, agriculture scheme, Rajasthan news, Agriculture Electricity Connection, मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना, बिजली बिल, किसान योजना, कृषि योजना, राजस्थान समाचार, कृषि बिजली कनेक्शन

देश में बड़े पैमाने पर सिंचाई के लिए किसान बिजली चालित नलकूपों का उपयोग करते है। राजस्थान राज्य में भी सिंचाई के लिए बिजली का उपयोग बड़े स्तर पर होता है। और राजस्थान सरकार ने किसानों के आर्थिक सशक्तिकरण की दिशा में बड़ा कदम उठाते हुए मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना नाम से एक स्कीम लागू की है. और राज्य में सरकार अनुसार इस योजना से प्रदेश के करीब 7 लाख 50 हजार किसानों का बिजली बिल शून्य हो गया है. यानि इन किसानों को फ्री में बिजली मिल रही है. राज्य सरकार ने 17 जुलाई, 2021 को इस योजना की शुरूआत की और इसका लाभ बिलिंग माह मई, 2021 से प्रदेश के किसानों को दिया गया.

राज्य सरकार के ऊर्जा मंत्री भंवर सिंह भाटी का कहना है कि मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना किसानों की आय बढ़ाने और उन्हें बिजली के खर्च से चिंता मुक्त करने की ओर एक बड़ी पहल शुरू है. उन्होंने बताया कि योजना का लाभ सामान्य श्रेणी ग्रामीण मीटर एवं फ्लैट रेट श्रेणी के सभी किसान उपभोक्ताओं को दिया जा रहा है.

किसानों को सालाना 12 हजार रुपये का फायदा 

भाटी ने आगे बताया कि योजना के तहत कृषि उपभोक्ताओं को कृषि बिजली बिल में प्रतिमाह एक हजार रुपए और अधिकतम 12 हजार रुपए प्रति वर्ष का अतिरिक्त सब्सिडी दी जा रही है. यह अनुदान बिजली बिल में समायोजन के माध्यम से भी दिया जा रहा है. किसी माह में बिल राशि एक हजार रुपये से कम होने पर अनुदान की शेष राशि का लाभ उसी वित्तीय वर्ष के आगामी माह में भी समायोजित किया जा रहा है, ताकि छूट का पूरा लाभ किसान को जरूर मिले. सरकार की इस योजना से राजस्थान में लघु एवं मध्यम वर्ग के किसानों के लिए कृषि बिजली बिल लगभग फ्री हो गया है.

किसानों कितना मिला फायदा

ऊर्जा विभाग के प्रमुख शासन सचिव भास्कर ए सावंत ने बताया कि योजना में अगस्त 2022 तक प्रदेश के करीब 12 लाख 75 हजार कृषि उपभोक्ताओं को 1324 करोड़ 47 लाख रुपये से अधिक का अतिरिक्त अनुदान बिजली बिलों में भी प्रदान किया जा चुका है. इस अवधि के दौरान करीब 7 लाख 48 हजार 899 कृषि उपभोक्ताओं को शून्य राशि के बिजली बिल भी जारी हुए हैं. इस योजना के माध्यम से ग्रामीण कृषि उपभोक्ताओं को बड़ी भी राहत मिल रही है.

योजना क्या कहते हैं किसान

राजस्थान के दौसा जिले के किसान कमलेश शर्मा का कहना है कि मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना शुरू होने से पहले उन्हें सालभर में कृषि बिजली के लिए 10 से 12 हजार रुपये तक चुकाने पड़ते थे. लेकिन जब से योजना शुरू हुई है तब से उनका बिजली बिल भी जीरो हो गया है. इस पैसे के उपयोग वे कृषि से जुड़ी दूसरी गतिविधियों में अभी कर पा रहे हैं. सरकार ने इस योजना से किसानों को बहुत बड़ी राहत भी दी है. वही डूंगरपुर जिले के एक किसान शंकर का कहना है कि पहले उनका प्रतिमाह कृषि बिजली बिल एक हजार रुपये तक भी आता था, लेकिन किसान मित्र ऊर्जा योजना में एक हजार रुपये की सब्सिडी मिलने के कारण उनका कृषि बिजली बिल अब ज़ीरो ही आता है. इससे खेती करना भी आसान हुआ है. हर माह बिजली के बिल को जमा कराने की चिंता से मुक्ति मिली है.

Also Read:यूपी के इस शहर में भारी बार‍िश से आफत, स्‍कूल, कॉलेज बंद के साथ साथ लोगों को घरों में रहने की सलाह

Also Read:कपास उत्पादन भारी गिरावट का अनुमान, भारत इस देश से करेगा 25 लाख गांठ आयात

Also Read:मंडी भाव 16 सितंबर 2022: सरसों, बाजरा, ग्वार, नरमा सहित मुख्य फसलों के ताजा रेट