india job post

खुशखबरी! इस राज्य के किसानों को 15 सितंबर तक मिलेगा फसल नुकसान का मुआवजा, सीधे बैंक खाते में आएगें पैसे

 | 
Agriculture News, Agriculture Scheme, Maharashtra Farmers, Maharashtra agriculture, Crop Compensation in Maharashtra, Compensation to farmers, Kharif crop damage, Kharif Season 2022, Climate change, Kisan news, Kheti kisani,  Crop insurance,,महाराष्ट्र किसान, महाराष्ट्र कृषि, कृषि योजना, महाराष्ट्र में फसल मुआवजा, किसानों को मुआवजा, खरीफ फसल क्षति, खरीफ सीजन 2022, जलवायु परिवर्तन, फसल बीमा, कृषि समाचार, किसान समाचार, खेती किसानी"

विश्व में जलवायु में जारी बदलाव का सबसे बुरा असर कृषि पर देखने को मिला है। वर्ष 2022 में मानसून के सबसे खराब रुख के कारण कई राज्यों में खड़ी फसलें खराब हो गई है। और किसानों को बड़े आर्थिक नुकसान का सामना करना पड़ा है। इसी नुकसान की भरपाई के लिये केंद्र और राज्य सरकारों की तरफ से फसल नुकसान भरपाई के लिये कई तरह के प्रयास किये जाते हैं. किसानों के लिए केंद्र सरकार ने पीएम किसान बीमा योजना नामक स्कीम भी चला रखी है।  इसी कड़ी में महाराष्ट्र सरकार ने प्रदेश के किसानों को अब बड़ी खुशखबरी दी है.

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, महाराष्ट्र के सभी जिलों में किसानों को फसल नुकसान मुआवजे की राशि 15 सितंबर तक सीधा किसानों के बैंक खाते में ट्रांसफर की जायेगी. इस योजना के तहत सबसे ज्यादा सहायता रकम महाराष्ट्र के नांदेड़ जिले के किसानों को दी जायेगी. इस योजना से जुड़े कुछ नियमों और शर्तों के अनुसार उस्मानाबाद जिले को राहत कार्यक्रम से बाहर भी रखा जायेगा.

प्रति हेक्टेयर के अनुसार होगा भुगतान

महाराष्ट्र के किसानों को भारी बारिश के कारण फसल में होने वाले नुकसान के लिये प्रति हेक्टेयर के हिसाब से सरकार द्वारा भुगतान किया जायेगा. नियमों के अनुसार किसानों को अधिकतम 3 हेक्टेयर तक फसल नुकसान के लिये सहायता राशि का भुगतान ही किया जायेगा, जिसके तहत किसानों को फसल के मुताबिक 27 हजार से 36 हजार प्रति हेक्टेयर तक आर्थिक मदद सरकार द्वारा प्रदान की जायेगी. इस योजना में महाराष्ट्र राज्य सरकार के साथ-साथ आपदा  प्रबंधन विभाग और केंद्र सरकार की तरफ से भी किसानों को अलग-अलग दरों पर सहायता राशि का भुगतान भी किया जायेगा.  

राज्य के इन किसानों को मिलेगा लाभ

महाराष्ट्र के सभी जिलों में किसानों को बारिश के कारण फसल में हुये नुकसान के लिये सहायता राशि दी जायेगी, जिसमें सबसे ज्यादा प्रभावित नांदेड़ जिले के किसानों की फसलें है. दरअसल जुलाई 2022 में मानसून की बारिश के कारण सबसे ज्यादा नुकसान नांदेड़ जिले के किसानों को ही हुआ. इस इलाके में औसत बारिश से दो गुना अधिक पानी बरसा, जिसके कारण सबसे ज्यादा सोयाबीन का उत्पादन बहुत प्रभावित हुआ है.

अब राज्य सरकार ने बढ़ाया मुआवजा

मानसून 2022 में तेज बारिश कारण खरीफ फसलों में काफी अधिक नुकसान भी हुआ है, जिसको देखते हुये महाराष्ट्र सरकार ने किसानों के लिये मुआवजे की राशि को बढ़ाकर लगभग दोगुना कर दिया. 
खाद्यान्न फसलों में नुकसान का मुआवजा 6,800 रुपये प्रति हेक्टेयर तक दिया जाता था. इस सहायता राशि को जिसे बढ़कार सरकार ने अब 13, 600 रुपये प्रति हेक्टेयर कर दिया गया है. 
राज्य में बागवानी फसलों के लिये भी किसानों को 13,500 रुपये प्रति हेक्टेयर तक मुआवजा मिलता था, जिसे बढ़ाकर अब 27,000 रुपये प्रति हेक्टेयर तक कर दिया गया है. 
मानसून में नुकसान के अलावा खेती के तीनों सीजन में हुये नुकसान पर मुआवजे की रकम को 18,000 रुपये प्रति हेक्टेयर से बढ़ाकर लगभग 36,000 रुपये प्रति हेक्टेयर तक अब कर दिया है.

मानसून 2022 में किसानों को हुआ नुकसान

इस बार साल 2022 का मानसून किसानों के लिये आफत का पैगाम लेकर आया. देश के अधिकतर राज्यों में कम बारिश के कारण के कारण धान की बुवानी भी नहीं हो पाई तो वहीं तेज बारिश के कारण महाराष्ट्र जैसे राज्यों में खड़ी फसलें जलमग्न भी हो गई. इस समस्या का सबसे बुरा असर सोयाबीन और कपास की पैदावार पर भी पड़ेगा.

रिपोर्ट्स के अनुसार, महाराष्ट्र के विदर्भ, मराठवाड़ा, पश्चिमी महाराष्ट्र, मध्य महाराष्ट्र और उत्तरी भागों की फसलों में काफी नुकसान देखने को इस बार मिला है, जिसके कारण वर्तमान में किसानों की माली हालत काफी खराब भी हो चली है. खासकर अभी देशभर में त्यौहारों का सीजन अभी चल रहा है. ऐसी स्थिति में महाराष्ट्र सरकार की ओर से फसल नुकसान मुआवजे का भुगतान मिलने पर किसानों को आर्थिक संकट से मुक्ति भी मिलेगी.

रोजाना मंडी भाव के लिए यहां टच कर व्हाट्सप्प ग्रुप से जुड़े

ये भी पढ़े: Weather Update Rajasthan: राजस्थान में एकदम बदला मौसम का मिजाज, विभाग मुताबिक राज्य में इस दिन तक जारी रहेगा मानसून

ये भी पढ़े:मंडी भाव 14 सितंबर 2022: नरमा, मूंगफली, मोठ, बाजरा, सरसों, ग्वार, मूंग इत्यादि कृषि उपज भाव

ये भी पढ़े:सावधान! इन राज्यों में आने वाली है आफत भरी बारिश, मौसम विभाग का अलर्ट जारी

ये भी पढ़े:इस खेती में किसानों को मिलेगा प्रति हेक्टेयर 15 लाख तक का मुनाफा, अभी जानें बुवाई, बीजाई सहित सारी जानकारी