india job post

खुशखबरी! इन 11 मसाला फसलों की खेती पर सरकारी देगी 48,000 तक सब्सिडी, आवेदन शुरू, अभी करें अप्लाई

 | 
Agriculture Scheme, Spices cultivation, horticulture, Madhya Pradesh Agriculture, Agriculture News, Kheti kisani, kisan news, spices farming, subsidy on spices, types of spices, benefits of spices, spices production, Indian spices, Agriculture,मध्य प्रदेश कृषि, कृषि समाचार, कृषि योजना, खेती किसानी, किसान समाचार, मसालों की खेती, मसालों की खेती, मसालों पर सब्सिडी, मसालों के प्रकार, मसालों के लाभ, मसाला उत्पादन, भारतीय मसाले, कृषि" x

Indiajobpost, मध्य प्रदेश: भारतीय मसालों की देश और विदेश में भारी मांग रहती है। और मसालों के बिना हर किसी भी व्यंजन का स्वाद अधूरा ही रह जाता है। भारतीय मसालों की खपत बहुत है । इसलिए ग्लोबल बाजार में मांग को पूरा कारण के लिए सरकार किसानों को मसालों की खेती के लिए प्रेरित भी कर रही है।    

इसी दिशा में अब मध्य प्रदश की राज्य सरकार द्वारा राज्य के किसानों को मसाले की खेती के लिये 40% तक आर्थिक सब्सिडी भी दिया जा रहा है. इस तरह राज्य में मसालों का उत्पादन तो बढ़ेगा ही, अब किसान भी कम लागत में मसालों की खेती करके बढ़िया लाभ अर्जित कर पायेंगे.

मसालों की खेती पर इतनी मिलेंगी सब्सिडी

बता दे कि मध्य प्रदेश सरकार की ओर से राष्ट्रीय बागवानी विकास मिशन (MIDH) के तहत राज्य में मसालों की खेती को बढ़ावा देने के लिये मसाला क्षेत्र विस्तार नाम से योजना शुरू की गई है. 

  • इस योजना के तहत किसानों को 11 किस्म के मसालों की खेती के लिये 30,000 रुपये प्रति हेक्टेयर की लागत पर अधिकतम 4 हेक्टेयर के लिये 40 % तक सब्सिडी दी जाएगी .
  • इस तरह किसानों को मसालों की खेती के लिये 12,000 प्रति हेक्टेयर की दर से अधिकतम 48,000 रुपये तक की सब्सिडी मिल सकती है.
  • सरकर की इस योजना के तहत मध्य प्रदेश कृषि विभाग ने राज्य के किसानों से आवेदन भी मांगे हैं. यह प्रक्रिया बिल्कुल फ्री रहेगी और किसानों से आवेदन के लिये किसी तरह का पैसा नहीं लिया जायेगा.

इन 11 मसालों पर मिलेगा सब्सिडी का ऑफर 

मध्य प्रदेश उद्यानिकी विभाग द्वारा प्रदेश के किसानों को 11 प्रकार मसाला फसलों की खेती के लिये 40 % तक सब्सिडी दी जायेगी. इन मसाला फसलों में धनिया, जीरा, सौंफ, मेथी, अजवाइन, सोआ, कलौंजी, अजमोद, विलायती सौंफ एवं स्याह जीरा मुख्य शामिल है. सबसे अच्छी बात यह है कि इन मसालों की मांग बाजार में सालभर बनी रहती है और ज्यादातर किसान सह-फसल विधि से खेती करके भी इन मसालों का उत्पादन भी ले सकते हैं.

अब शहर में भी मिलेगी सब्सिडी

मध्य प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही इस मसाला क्षेत्र विस्तार योजना के तहत आवेदन करने के लिये सबसे पहले किसानों को MPFSTS पोर्टल पर ऑनलाइन रजिस्टर करना होगा. मसालों की खेती पर सब्सिडी का फायदा उठाने के लिये ग्रामीण के साथ शहरी इलाकों के लोग भी आवेदन कर सकते हैं.  इस योजना के तहत सामान्य, एससी-एसटी, छोटे और सीमांत किसानों के साथ-साथ राज्य के महिला किसान भी आवेदन कर सकती हैं.

किसान यहां करें आवेदन

राष्ट्रीय बागवानी विकास मिशन (एमआईडीएच) के तहत मसाला क्षेत्र विस्तार योजना (Spices Sector Extension Scheme in Madhya Pradesh) के जरिये मसालों की खेती पर सब्सिडी  का लाभ उठाने के लिये उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग, मध्य प्रदेश के आधिकारिक पोर्टल https://mpfsts.mp.gov.in/mphd/#/new-application पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं.

आपको जानकारी के लिये बता दें कि इस आधिकारिक वेबसाइट पर 16 सितंबर 2022 से आवेदन शुरू भी हो गये हैं, जिसके तहत सुबह 11 बजे से शाम 5 बजे तक ही सिर्फ आवेदन लिए जायेंगे. अधिक जानकारी के लिये उद्यानिकी विभागकी वेबसाइट https://mpfsts.mp.gov.in/mphd/#/ या नजदीकी विकासखंड/जिला उद्यानिकी विभाग में भी सीधे संपर्क कर इस योजना का फायदा उठा सकते हैं. 

रोजाना मंडी भाव के लिए यहां टच कर व्हाट्सप्प ग्रुप से जुड़े

Also Read: IMD Rainfall Alert: राजस्थान के इन हिस्सों में बढ़ेंगी मुश्किलें, आने वाले 48 घंटे तक भारी बारिश का अलर्ट जारी

Also Read: मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना: सरकार की इस स्कीम से 7.5 लाख किसानों को बिजली बिल्कुल फ्री