india job post

PM Fasal Bima Yojana: क्यों यूपी के किसान बना रहे है फसल बीमा योजना से दूरी? यह है मुख्य वजह

Fasal Bima Yojana: किसानों को हुए फसल के नुकसान को पूरा करने के लिए यह योजना चलाई गई है. उत्तर प्रदेश के लगभग 2 करोड़ किसानों में से इस योजना के लिए केवल 25 लाख किसानों को फायदा मिलता है. क्योंकि किसान की फसल प्राकृतिक आपदा में नष्ट होने के बाद किसानों को इस योजना का फायदा नहीं मिल पाया है.
 | 
FASAL BIMA YOJNA

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana: यूपी में किसान फसल बीमा योजना में बेरुखी देखने को मिल रही है. कई किसान फसल बीमा योजना का फायदा नहीं उठाना चाहते हैं. क्योंकि जमीनी हकीकत यह है कि किसान फसल प्राकृतिक आपदा आने के बाद भी उनको इस योजना का फायदा नहीं मिल पाया है. 

दूसरी और, किसानों की बेरुखी से किसान फसल बीमा योजना यूपी में आगे नहीं बढ़ पा रही है, उत्तर प्रदेश के 2 करोड़ किसान होने के बाद में भी 25 लाख किसानों को ही ऐसी योजना के फायदे  से जोड़ा गया है.

जानकारी के अनुसार, उत्तर प्रदेश में किसानों के फसल के नुकसान की पूर्ति के लिए किसान फसल बीमा योजना चलाई गई है. उत्तर प्रदेश में लगभग 2 करोड़ किसान हैं, लेकिन इस योजना में केवल 25 लाख की किसान को फायदा मिला है. परंतु उस मुआवजा उन तक नहीं पहुंच पाया है. किसान इस योजना का लाभ नहीं लेना चाहते है और न ही प्रीमियम कटवाने का मन हैं.

हरिहरपुर के किसान बदलू को किसान फसल बीमा योजना के बारे में जानते भी नहीं है और ना ही लेना चाहते है. सीतापुर जिले के रहने वाले सियाराम वर्मा के घर पर 5 सदस्य हैं. सरसों के खेत का आपदा में नुकसान हुआ है, परंतु उनके प्रीमियम लेने के बाद भी मुआवजा नहीं मिला है. उन्हें उधार लेकर काम चलाना पड़ रहा है.

अनिल कुमार वर्मा ,गगन जीत सिंह और चंद्र भान वर्मा जो कई सालों से प्रीमियम कटवा रहे है और उनके खेत में नुकसान होने के बाद भी मुआवजा नहीं मिल पाया है. एक तरफ फसल बर्बाद हुई और दूसरी तरफ मुआवजे के नाम बार कई बार जांच होने के बाद भी मुआवजा नहीं मिला है.

सीतापुर के नेवराजपुर के संत लाल का भी कई सालों से प्रीमियम कट रहा है. अब उनका कहना है कि उनको अब इस बीमा योजना का लाभ नहीं लेना चाहते है. कौशलनेद्र जो कि हरिहरपुर में रहतेहैं. उनके खाते में बीमा योजना के 12 हजार रुपए आते है, परंतु कुछ दिन बाद बैंक ने 28 जाकर रुपए जमा करवा लिए करवाना पड़ेगा और आपको मुआवजा नहीं मिल पाएगा. अब वह इस बीमा योजना बीमा का फायदा नहीं उठाना चाहते हैं.

किसान नेता हरिनाम वर्मा के अनुसार, किसानों को किसी भी प्रकार का फसल बीमा योजना का लाभ नहीं मिलेगा. कई किसान ऐसे हैं जिनका कई वर्षों से पैसा कट रहा है और नुकसान होने के बावजूद भी मुआवजा नहीं मिलेगा. कई किसान ऐसे हैं जो सरकारी दफ्तरों के चक्कर लगा रहे है. लेकिन उनको पता ही नहीं है कि किसान फसल बीमा योजना क्या होती है. 

कृषि विभाग के डायरेक्टर राजेश गुप्ता के अनुसार, सरकार किसान फसल बीमा योजना के लिए काम किया जा रहा है और लोगों तक इसका फायदा मिल रहा है. इसमें 25 लाख लोगों को इसका फायदा मिला है और उत्तर प्रदेश में 2 करोड़ किसान हैं. अभी और जगह जाना है. मुआवजा मिलने के लिए बैंक होती है हमारे अधिकारी भी लगे हुए हैं. उत्तर प्रदेश में जिनकी फसल प्रकृतिक रूप से खराब होती है उनको मुआवजा दिया गया है. इसमें पैसा इंश्योरेंस के रूप में भी पैसा कटवा सकते है. किसान का जो kcc कार्ड के द्वारा अपने आप बैंक से काटा जाता है. जो किसान इसके लिए इच्छुक होते हैं उन्हीं का पैसा कटता है जो नहीं, उनका नहीं.

रोजाना मंडी भाव के लिए यहां टच कर व्हाट्सप्प ग्रुप से जुड़े

ये भी पढ़े: Weather Update: इस राज्य में भारी बारिश और ओलावृष्टि का अलर्ट जारी, दिल्ली में मौसम हुआ सुहाना

ये भी पढ़े: Delhi Weather Today : दिल्ली में बदला मौसम, उमस भरी गर्मी से मिली राहत जमकर बरसे बदरा

ये भी पढ़े: Punjab Weather Update: पंजाब में मानसून का दूसरा दौर शुरू, आगामी 3 दिन तक इन जिलों में बारिश के आसार

ये भी पढ़े: MP Weather Update: मध्य प्रदेश में फिर बदला मौसम, अब जबलपुर,भोपाल व इंदौर सहित कई जिलों में बारिश के आसार