india job post

Subsidy: डबल दाम पर बिकेगा मक्का, इस राज्य में प्रोसेसिंग यूनिट लगाने के लिये 25% तक मिलेगी सब्सिडी, किसानों का फायदा

 | 
"Food Processing, maize, Agriculture Scheme, Bihar government, Bihar agriculture, maize cultivation, maize processing, maize processing unit, Agriculture news, Kisan news, kheti kisani, subsidy on food Processing, subsidy on Maize, Farmer Producer Organization, FPO FPC, BAIPP scheme, corn processing, corn processing unit, subsidy on corn processing,बिहार सरकार, बिहार कृषि, मक्का की खेती, मक्का प्रसंस्करण, मक्का प्रसंस्करण इकाई, खाद्य प्रसंस्करण, कृषि योजना, कृषि समाचार, किसान समाचार, खेती किसानी, खाद्य प्रसंस्करण पर सब्सिडी, मक्का पर सब्सिडी, किसान उत्पादक संगठन, एफपीओ एफपीसी, बीएआईपीपी योजना,"

Subsidy On Maize Processing Unit: देश के किसान की आय बढ़ाने और भारत की ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिये किसानों को खेती के साथ-साथ अन्य कार्यों से भी जोड़ा जा रहा है। जिसमें पशुपालन, मुर्गी पालन, मछली पालन, मधुमक्खी पालन और खाद्य प्रसंस्करण आदि शामिल है। किसानों को इन कार्य के लिये केंद्र और राज्य सरकार मिलकर किसानों को आर्थिक सब्सिडी भी उपलब्ध करवाती है। अब बिहार कृषि विभाग द्वारा मक्का के खाद्य प्रसंस्करण यानी फूड़ प्रोसेसिंग के लिये सब्सिडी की पेशकश भी की गई, जिसके तहत किसानों, व्यक्तिगत निवेशकों और किसान उत्पादक संगठनों को सब्सिडी का प्राथमिकता से लाभ भी दिया जायेगा। 

मक्का प्रसंस्करण पर सब्सिडी

बिहार कृषि विभाग, बागवानी निदेशालय द्वारा बिहार कृषि निवेश प्रोत्साहन नीति के तहत किसान, व्यक्तिगत निवेशक और किसान उत्पादक संगठनों को मक्का प्रसंस्करण उद्योग यानी मक्का प्रोसेसिंग यूनिट लगाने के लिये पूंजीगत सब्सिडी की पेशकश की गई है। इस स्कीम के तहत मक्का प्रोसेसिंग यूनिट की इकाई लागत पर किसानों और व्यक्तिगत निवेशकों को 15% तक पूंजीगत सब्सिडी के रूप में दिया जायेगा। वहीं किसान उत्पादक संगठन यानी एफपीओ और एफपीसी को मक्का प्रसंस्करण उद्योग की इकाई लागत पर 25% आर्थिक अनुदान का लाभ मिलेगा। 



किसान यहां करें आवेदन
बिहार राज्य में मक्का प्रोसेसिंग यूनिट पर आर्थिक सब्सिडी का लाभ लेने के लिये बिहार कृषि विभाग, बागवानी निदेशालय या बिहार कृषि निवेश प्रोत्साहन नीति की आधिकारिक वेबसाइट http://horticulture.bihar.gov.in/ पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।  अपने नजदीकी जिले सहायक निदेशक, उद्यान से भी संपर्क करके मक्का प्रसंस्करण यूनिट और आवेदन करने का तरीका जान सकते हैं. किसान चाहें तो Contact Us के ऑपशन पर क्लिक करके भी घर बैठे संबंधित अधिकारी से योजना से संबंधित जानकारी भी हासिल कर सकते हैं.

मक्का का प्रसंस्करण
भारत में खरीफ फसल चक्र के दौरान मक्का की खेती भी की जाती है. मक्का भारत की प्रमुख नकदी फसल होने के साथ-साथ किसानों के लिये भी अच्छा फायदे का सौदा भी है. देश-विदेश में भी मक्का और इससे बने उत्पादों की मांग लगातार बढ़ती जा रही है. 
जानकारी के लिए बता दें कि मक्का का उपयोग पोषक अनाज के अलावा, मक्का आटा, मुर्गियों का दाना, पशुओं का चारा, मछली का चारा, पोल्ट्री फीड, कॉर्न फ्लेक्स, कॉर्न ग्रिट्स, कॉर्न सूजी, कॉर्न स्टार्च (Corn Starch) बनाने में भी किया जाता है. अगर किसानों को बाजार में मक्का की फसल के सही भाव नहीं मिल पाते या फिर खेती के साथ-साथ किसान कुछ नया करना चाहते हैं तो मक्का प्रोसेसिंग यूनिट भी लगा सकते हैं. और मक्का द्वारा अन्य उत्पाद निर्मित कर बाजार में अच्छे भावों में बेच सकते है।  

रोजाना मंडी भाव के लिए यहां टच कर व्हाट्सप्प ग्रुप से जुड़े

ये भी पढ़े: Weather Update Rajasthan: राजस्थान में एकदम बदला मौसम का मिजाज, विभाग मुताबिक राज्य में इस दिन तक जारी रहेगा मानसून

ये भी पढ़े:मंडी भाव 14 सितंबर 2022: नरमा, मूंगफली, मोठ, बाजरा, सरसों, ग्वार, मूंग इत्यादि कृषि उपज भाव

ये भी पढ़े:सावधान! इन राज्यों में आने वाली है आफत भरी बारिश, मौसम विभाग का अलर्ट जारी

ये भी पढ़े:इस खेती में किसानों को मिलेगा प्रति हेक्टेयर 15 लाख तक का मुनाफा, अभी जानें बुवाई, बीजाई सहित सारी जानकारी